भारत में क्यों बढ़ रहा  है मेल इनफर्टिलिटी की समस्या, जाने क्या है पुरुषों में इस समस्या का कारण और कैसे करे उपचार

Upset depressed young man sitting on the edge of bed against his wife lying on the bed. Relationship difficulties.

इनफर्टिलिटी को लेकर दुनिया में अनेकों तरह के संदेह है और समाज में  हमेशा महिला को ही गर्भ धारण करने में असमर्थ के लिए दोषी ठहराते है | संजीवनी हेल्थ सेंटर के सीनियर डॉक्टर डॉ एसएस जवाहर का कहना है की पुरुषों में इनफर्टिलिटी का दर लगभग 23 प्रतिशत पाया गया है | सबसे महत्वपूर्ण बात तो यह है की भारत देश में भी पिछले कुछ सालों में मेल इनफर्टिलिटी की समस्या का दर बढ़ते ही जा रहा है | 

क्या है मेल इनफर्टिलिटी ?   

मेल  इनफर्टिलिटी के मुख्य कारण है जैसे की शुक्राणुओं में कमी होना, शुक्राणु का उत्पादन कम होना, शुक्राणु के असामान्य कार्य में लेकर रुकावट आना, जननांग पथ में लगे चोट या फिर संक्रमण से भी यह समस्याएं हो सकती हैं। अन्य कारणों जैसी की धूम्रपान, अत्यधिक शराब का सेवन, खराब आहार का सेवन, व्यायाम बिल्कुल न करना, मोटापा, तनाव और कुछ रसायनों या कीटनाशकों के संपर्क में आना आदि से | 

कैसे करे मेल इनफर्टिलिटी का उपचार ? 

पुरुषों में मेल इनफर्टिलिटी मुख्य लक्षण है वीर्य स्खलन में कठिनाई का सामना करना, यौन करने की इच्छा न होना,  वृषण क्षेत्र में दर्द होना, सूजन या गांठ आदि | इन असामान्यताओं पर ध्यान देना बेहद महत्वपूर्ण है | अगर आप इस मेल इनफर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे हो तो, इसका सही समय पर डॉक्टर के पास जाकर उपचार करवाना ही बेहतर रहेगा | ताकि आगे जाकर इस समस्या से छुटकारा पाया जा सके और बढ़ रहे दर को कम किया जा सके | 

इस संबंधित कोई भी जानकारी लेना चाहते हो तो आप संजीवनी हेल्थ सेंटर से ले सकते है | इस संस्था के सभी डॉक्टोर्स  सेक्सोलॉजिस्ट में एक्सपर्ट है और इन्हे 35 से अधिक सालों का तज़र्बा है |